ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
विधिक सेवा दिवस मध्यप्रदेश का प्रथम "क्राइम अगेंस्ट लेबर सेल" भोपाल में प्रारंभ
November 9, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

विधिक स्वयंसेवी नियुक्त - श्रमिक कर सकेंगे शिकायत

 

भोपाल । विधिक सेवा दिवस के उपलक्ष्य में राष्ट्रीय सेवा प्राधिकरण नालसा के निर्देश पर निर्मित मध्यप्रदेश के प्रथम "क्राइम अंगेस्ट लेबर सेल'' का शुभारंभ सहायक श्रमायुक्त कार्यालय भोपाल में अतिरिक्त जिला न्यायाधीश श्री आशुतोष मिश्रा द्वारा किया गया।

 सहायक श्रमायुक्त कार्यालय तथा जिला विधि सेवा प्राधिकरण के संयुक्त तत्वाधान में संपन्न इस कार्यक्रम के तहत श्रमिकों की समस्याओं के सरल व त्वरित निवारण व मार्गदर्शन के लिए राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशों व मंशा के अनुरूप इस विशेष सेल की स्थापना की गई है। इस सेल में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा श्रमिकों की समस्याओं के उचित निराकरण और मार्गदर्शन के लिए एक पेरालीगल वॉलेन्टियर की नियुक्ति भी गई है। उल्लेखनीय है कि सामान्यत: श्रमिकों व निजी क्षेत्र में कार्यरत कर्मचारियों के हितों के संरक्षण के लिए निर्मित विभिन्न श्रम अधिनियमों के प्रावधानों के माध्यम से श्रम विभाग द्वारा लगातार कार्य किया जा रहा है। कोविड-19 की आपदा के पश्चात् इस वर्ग पर विशेष प्रभाव पड़ा है तथा इस सेल के माध्यम से श्रमिकगण अपनी शिकायत के संबंध में विश्वसनीय निराकरण पा सकेंगे।

 अतिरिक्त जिला न्यायाधीश श्री मिश्रा ने बताया कि कोई भी श्रमिक अपनी किसी भी तरह की समस्या के लिए इस सेल में आकर न केवल शिकायत दर्ज करा सकता है अपितु कानूनी मार्गदर्शन व सहायता भी प्राप्त कर सकता है। उन्होंने उपस्थितजनों से आग्रह किया कि इसका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए ताकि अधिकाधिक संख्या में श्रमिक इसका लाभ उठा सकें। उन्होंने विशेष रूप से उल्लेख किया कि प्राकृतिक न्याय के साथ त्वरित तथा समय पर न्याय, न्यायपालिका की प्राथमिकता है। सहायक श्रमायुक्त भोपाल के कार्यों व कोविड आपदा के समय कार्यालय द्वारा श्रमिकों की गई सहायता की भूरी-भूरी प्रंशसा करते हुए उन्होंने अपनी शुभकामनाएं दी।

 श्री मयंक दीक्षित ने सेल के सेटअप और व्यवस्था की जानकारी दी । इस सेल में सेल प्रभारी द्वारा शिकायतों के पंजीयन के लिए कम्प्यूटर, रजिस्टर तथा अलग से स्थान आरक्षित किया गया है, जहाँ श्रमिकगण सहजता एवं सरल तरीके से विधिक सहायता के साथ मार्गदर्शन प्राप्त कर सकते है।

 इस अवसर पर बड़ी संख्या में स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि, विभिन्न शासकीय कार्यालयों के कर्मचारी तथा श्रमिकगण उपस्थित थे। सभी के द्वारा प्राधिकरण की इस पहल की सराहना की गई।