ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
विसर्जन को लेकर कानून व्यवस्था पालन अधिकारियों की लगाई ड्यूटी
August 29, 2020 • Admin

भोपाल । कलेक्टर अविनाश लवानिया द्वारा  सुरक्षा व्यवस्था हेतु शहर के विभिन्न घाटों जैसे प्रेमपुरा रानी कमलापति सीहोर नाका शाहपुरा तालाब हथाईखेड़ा ईटखेड़ी एवं खटलापुरा एवं कर्बला पर आज  प्रातः 10 बजे से 3 सितंबर को कार्य समाप्ति तक अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है । आदेश में रानी कमलापति का कमला पार्क पर जमील खान अनुविभागीय अधिकारी शहर और देवेंद्र चौधरी तहसीलदार, प्रेमपुरा घाट पर विनीत तिवारी अनुविभागीय अधिकारी और अवनीश मिश्रा तहसीलदार, सीहोर नाका पर  मनोज उपाध्याय अनुविभागीय अधिकारी बैरागढ़ और गुलाब सिंह बघेल तहसीलदार, हताई खेड़ा अनंतपुरा पर  मनोज वर्मा अनुविभागीय अधिकारी गोविंदपुरा और मनोज श्रीवास्तव तहसीलदार, शाहपुरा विसर्जन घाटी स्थल पर राजेश गुप्ता अनुविभागीय अधिकारी और संतोष मुद्गल तहसीलदार, एक गरीब विसर्जन स्थल पर क्षितिज शर्मा अनुविभागीय अधिकारी और चंद्रशेखर श्रीवास्तव, खाटला पुरा विसर्जन घाट पर जमील खान अनुविभागीय अधिकारी शहर और देवेंद्र चौधरी तहसीलदार, नरोन्हा सॉन्ग पर  सतीश शर्मा अनुविभागीय अधिकारी और दीपक पांडेय, कर्बला पर मनोज उपाध्याय अनुविभागीय अधिकारी बैरागढ़ और गुलाब सिंह बघेल तहसीलदार के साथ ही अन्य अधिकारियों, कर्मचारियों की ड्यूटी भी लगाई गई है ।सभी एसडीएम एवं कार्यपालक मजिस्ट्रेट अपने-अपने क्षेत्र अंतर्गत आने वाले विसर्जन घाटों पर 29 अगस्त  से 3 सितंबर तक अपने स्तर से क्षेत्र अंतर्गत घाटों पर उक्त दिनांक को पर अतिरिक्त ड्यूटी लगाना सुनिश्चित करेंगे उक्त संबंध में समस्त जिम्मेदारी संबंधित क्षेत्र के एसडीएम कार्यपालक मजिस्ट्रेट की होगी ड्यूटी पर लगे हुए सभी एसडीएम अधिकारी तहसीलदार नायब तहसीलदार अपने अधीनस्थ 2 - 2 राजस्व निरीक्षकों एवं अधीनस्थ कर्मचारियों की लिखित में ड्यूटी लगाएंगे ।आगामी अगस्त एवं सितंबर माह में 29 अगस्त दिन शनिवार को डोल ग्यारस एवं कत्ल की रात, 30 अगस्त रविवार को मोहर्रम, 1 सितंबर मंगलवार को अनंत चतुर्दशी, 2 सितंबर बुधवार को श्राद्ध पक्ष का त्यौहार है  ।कोविड संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए सार्वजनिक रूप से नदियों तालाबों तथा अन्य स्त्रोतों पर आमजन का एकत्रित होना प्रतिबंधित किया गया है । मूर्ति एवं ताजियों को यथासंभव घर पर ही विसर्जन किया जाए । वैकल्पिक तौर पर नगर निगम द्वारा मूर्तियों एवं ताजिए वार्ड वार टैंकरों/ वाहनों में एकत्र कर विसर्जन कार्य की व्यवस्था की जाए