ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
यह जनता का पैसा लूटने वालों को सबक सिखाने का चुनाव है
July 8, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

मुंगावली। बमौरी की वर्चुअल रैली को प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया संबोधित भोपाल। आने वाले चुनाव केवल भाजपा की सरकार बनाए रखने के लिए नहीं है, बल्कि जिन लोगों ने जनता का पैसा लूटा है, उनको सबक सिखाने का चुनाव है। चुनाव का मुद्दा केवल भाजपा की प्रतिष्ठा नहीं है, इस चुनाव का मुद्दा जनता की प्रतिष्ठा है, प्रदेश की प्रगति है। यह संदेश हमें जनता तक ले जाना है और उसे बताना है कि 15 महीने की सरकार में जनता को क्या मिला। क्या किसानों की कर्जमाफी हुई? इस बात को हमें जन-जन तक ले जाना है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा एवं सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सोमवार को वर्चुअल रैली के माध्यम से मुंगावली एवं बमौरी विधानसभा के कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कही। कांग्रेस की मानसिकता कुचलने की रही है: विष्णुदत्त शर्मा वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि आज डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी की जयंती है, जिन्होंने भारत की राजनीति को एक नई दिशा देने का काम किया था। डॉ. मुखर्जी के नेतृत्व में हम आगे बढ़े। पं. नेहरू की सरकार ने जब कश्मीर में धारा 370 को लागू किया, तो सरदार पटेल से लेकर डॉ. मुखर्जी तक ने इसका विरोध किया। उन्होंने कहा कहा कि एक देश में दो विधान, दो निशान और दो प्रधान नहीं चलेंगे। डॉ. मुखर्जी ने सरकार से इस्तीफा दे दिया और जनसंघ की स्थापना की। उस समय पं. नेहरू ने कहा कि था कि मैं जनसंघ को कुचलकर रख दूंगा, तब डॉ. मुखर्जी ने कहा था कि मैं जनसंघ को कुचलने के विचार को ही कुचल दूंगा। कांग्रेस की मानसिकता हमेशा कुचलने की रही है। चुनौती स्वीकारने तैयार हैं भाजपा कार्यकर्ता श्री शर्मा ने कहा कि एक उद्योगपति, जो गलती से मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बन गए थे, वो कांग्रेस की बैठक में कह रहे थे कि अब हमारा टारगेट भारतीय जनता पार्टी का संगठन होगा। मैं कहना चाहता हूं, कमलनाथ जी और दिग्विजय सिंह जी आप याद कर लो, मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के एक करोड़ से ऊपर कार्यकर्ता हैं और पार्टी का एक-एक कार्यकर्ता बूथ पर बैठकर आप का चैलेंज स्वीकार करने के लिए तैयार है। यह आर- पार की लड़ाई है: सिंधिया वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए वरिष्ठ नेता एवं सांसद श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि स्व. अटलजी ने कहा था कि यह आर या पार की लड़ाई है, यह कोई चेहरा ढंकने का समय नहीं है। इसलिए हमें चुप नहीं रहना है। हम सब एक हैं। किसी भी व्यक्ति पर प्रहार होगा, तो हमें एक दूसरे की पैरवी करना है। प्रत्येक कार्यकर्ता को ईंट का जवाब, पत्थर से देना होगा। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी केवल जनता का हित चाहती है, जनता की प्रगति चाहती है। श्री सिंधिया ने कहा कि मुंगावली में श्री ब्रजेन्द्र सिंह ने जो कुर्बानी दी है, कांग्रेस उस पर कालिख पोतने का काम कर रही है। कांग्रेस गलतफहमी पैदा करने का प्रयास कर रही है, जिससे हमें सतर्क रहना है। उन्होंने कहा कि हम सब एक परिवार के सदस्य हैं और हम कंधे से कंधा मिलाकर काम करेंगे तो हमारी विजय निश्चित है। श्री सिंधिया ने कहा कि बाबा साहब अंबेडकर जी ने कहा था हाथ की उंगलियां अगर संयुक्त हो जाती हैं तो फिर मु_ी बन जाती है। मैं कहना चाहता हूं कि आप सभी कार्यकर्ता एक हैं और कांग्रेस को मु_ी का सामना करना पड़ेगा। धोखेबाज सरकार को दिखाया आइना श्री सिंधिया ने कहा कि कमलनाथ सरकार के कार्यकाल के 10 महीने निकल गए, लेकिन किसानों का कर्जामाफ नहीं हुआ। कई किसानों को फर्जी सर्टिफिकेट दे दिए गए। कांग्रेस ने कहा था कि कन्यादान योजना में 51000 रुपये देंगे, लेकिन मुंगावली-बमौरी में किसी को यह राशि नहीं मिली। नौजवानों को प्रतिमाह 4 हजार रूपया बेरोजगारी भत्ता देने की बात कही, लेकिन मुंगावली-बमौरी में किसी नौजवान को यह भत्ता नहीं मिला। श्री सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस का उद्देश्य था 'झूठा आश्वासन देकर जनता का पैसा खींचो और अपनी पॉकिट को सींचोÓ। श्री सिंधिया ने कहा कि देश के 70 साल के इतिहास में किसी राज्य में 1 साल के अंदर किसी पार्टी से 20 विधायकों, 6 मंत्रियों ने त्यागपत्र नहीं दिया, लेकिन इस सरकार को आईना दिखाने के लिए हमें यह कठोर निर्णय लेना पड़ा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के 15 महीने के कार्यकाल में कोई मंत्री और विधायक मुंगावली-बमौरी क्षेत्र में नहीं आया।