ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
युवाओं और किसानों की नहीं पाकिस्तान की बात करते हैं मोदी: कमलनाथ
February 28, 2020 • Vijay sharma • राजनीति
भोपाल। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है। धार जिले में आयोजित एक सार्वजनिक सभा में कमलनाथ ने कहा कि मोदी जी बड़ी बड़ी बातें करते थे कि नौजवानों के लिए यह होगा वह होगा दो करोड़ रोजगार आएंगे। अरे मोदी जी यह बता दें कि क्या दो लाख भी रोजगार आए। कमलनाथ ने कहा कि खेती को लाभ का धंधा बनाने की मोदी की बात बात ही रह गई और पिछले 5 सालों में सबसे ज्यादा किसानों ने आत्महत्या की। अब मोदी जी ना तो किसानों की बात करते हैं और ना नौजवानों की बात करते हैं बल्कि पाकिस्तान की बात करते हैं। यह सिर्फ जनता का ध्यान मोडऩे के लिए किया जाता है और यही कलाकारी की राजनीति है ।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाने वाले मोदी जी और शिवराज सिंह चौहान यह बता दें कि उनकी पार्टी में किस व्यक्ति ने स्वतंत्रता संग्राम में अपना योगदान दिया है। यह कांग्रेस को राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी कांग्रेस सरकार की योजनाओं के माध्यम से बेरोजगारों को रोजगार देगी। हम वादा करते हैं, हम घोषणा नहीं करते हैं। हम ऐसी और योजनाएं लाएंगे जिससे बेरोजगारी दूर हटे। 
आदिवासी समाज के साथ मिलकर लिखेंगे विकास का नया अध्याय
मुख्यमंत्री कमल नाथ ने धार जिले के विकासखण्ड डही में 1085 करोड़ 20 लाख रुपये लागत की माइक्रो उद्वहन सिंचाई योजना का शिलान्यास करते हुए कहा कि यह योजना आदिवासी समाज के नायक टंट्या भील के नाम से जानी जाएगी। उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज सहज, सरल और मेहनतकश है। इस समाज को वर्षों तक छला गया है किन्तु अब ऐसा नहीं होगा। श्री कमल नाथ ने कहा कि आदिवासी समाज के साथ मिलकर हम सब प्रदेश में विकास का नया अध्याय लिखेंगे।
समग्र नीतियों से प्रदेश की दशा बदलेगी
मुख्यमंत्री ने कहा कि हम विरासत में मिली प्रदेश की बिगड़ी अर्थ-व्यवस्था को सुव्यवस्था में बदलने के लिये कृत-संकल्पित हैं। हम ऐसी नीति बना रहे हैं, जिससे किसानों की दशा सुधरे। किसानों की पिछले कई वर्षों में खत्म हो चुकी क्रय-शक्ति को पुनर्जीवित करने के लिये प्रयास शुरू कर दिये गये हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की समग्र नीतियों से प्रदेश की दशा बदलेगी। श्री कमल नाथ ने कहा कि प्रदेश की 70 प्रतिशत आबादी कृषि पर आधारित है। इसलिये राज्य सरकार जय किसान फसल ऋण माफी जैसी योजनाओं के जरिये किसानों की दशा को सुधारने का हरसंभव प्रयास कर रही है।
युवा पीढ़ी की बौद्धिक क्षमता का समाज और देश हित में उपयोग जरूरी
भोपाल मुख्यमंत्री कमल नाथ मध्यप्रदेश कुर्मी क्षत्रीय समाज के 20वें अखिल भारतीय युवक-युवती परिचय सम्मेलन में शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कहा कि युवा पीढ़ी की बौद्धिक क्षमता का उपयोग समाज और देश हित में करना जरूरी है। उन्होंने कहा कि युवा शक्ति ही इस देश को सुरक्षित रखने और समृद्ध बनाने में सक्षम है। आज के युवाओं के पास ज्ञान है। समय रहते हमें इस ज्ञान संपदा का रचनात्मक उपयोग करना होगा। उन्होंने कहा कि समाज के बुजुर्गों का दायित्व है कि वे भावी पीढ़ी को सामाजिक मूल्यों से जोड़ें। भारत की सभ्यता, संस्कृति और अनेकता को आज की पीढ़ी अपनाए, यह हमारा दायित्व है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कुर्मी क्षत्रीय समाज एक जागरूक समाज है। इस समाज का देश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने बताया कि कुर्मी क्षत्रीय समाज से मेरा व्यक्तिगत संबंध रहा है। यह समाज आगे बढ़े, इसके लिए सदैव मेरा सहयोग रहेगा। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ का कुर्मी समाज से विशेष लगाव है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जिस गति और नई सोच के साथ काम कर रहे हैं, उससे निश्चित ही हमारा प्रदेश और हर गाँव खुशहाल बनेगा।
दिल्ली को हिंसा में किसने झोंका ?
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट करके दिल्ली में हुई हिंसा पर दुख प्रकट किया है। ट्वीट में लिखा है कि देश की राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा की घटनाएं और अब तक इसमें 22 लोगों की मौत की घटना बेहद दुखद और बेहद निंदनीय है। इस हिंसा को रोके जाने के लिए कड़े कदम उठाए जाना बेहद आवश्यक है। आखिर शांत देश की राजधानी को हिंसा की आग में झोकने का जिम्मेदार कौन ,किसकी असफलता है यह सब भी सामने आना चाहिए। सीएम कमलनाथ ने यह भी लिखा है कि हम सभी को मिलकर शांति की अपील और शांति के लिए प्रयास करने चाहिए ।दरअसल हिंसा के बाद से ही लगातार राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है और सारी विपक्षी पार्टियां इसके लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहरा रही है। बुधवार को हुई कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी सोनिया ने जमकर इस मामले में केंद्र सरकार को कोसा। साथ ही केजरीवाल सरकार की कार्यवाही पर भी सवालिया निशान खड़े किए। वहीं भाजपा की ओर से इस पूरे घटनाक्रम के पीछे विपक्षी पार्टी को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है और कहा जा रहा है कि डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा के समय भारत की छवि बिगाडऩे के लिए यह सब किया गया।