ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
ज़ी टीवी के सितारों ने याद किया जन्माष्टमी का उल्लास
August 9, 2020 • Admin • मनोरंजन

मुंबई । जीटीवी के धारावाहिक कुंडली भाग्य में समीर का रोल निभा रहे अभिषेक कपूर ने कहा, "जन्माष्टमी हमेशा मेरे पसंदीदा त्यौहारों में से एक रहा है। असल में बचपन से ही मैं यह त्यौहार मनाता आया हूं और मैंने इसका हर पल एंजॉय किया है। चाहे वो कृष्णा की तरह सजना हो या फिर मटकी फोड़ना हो, मैंने सबकुछ किया है। मुझे याद है मैं दो बार भगवान कृष्ण की तरह ड्रेसअप हो चुका हूं, एक बार अपने बचपन में और एक बार एक विज्ञापन के लिए। असल में मेरे पैरेंट्स, मेरे परिवार वाले और दोस्त भी मुझे कन्हैया बुलाते हैं, क्योंकि मेरे आसपास बहुत सारी महिला मित्र होती हैं। बहरहाल, जन्माष्टमी की बात करें तो इसे मनाते हुए बहुत अच्छा लगता है क्योंकि मुझे यह त्यौहार बहुत पसंद है। मेरी ओर से सभी को जय श्री कृष्णा!

 

ज़ी टीवी के कुमकुम भाग्य में प्राची का रोल निभा रहीं मुग्धा चापेकर ने कहा मुझे जन्माष्टमी का उत्सव मनाना बहुत अच्छा लगता है। यह मेरे लिए बहुत खास त्यौहार है। असल में मैंने अपने पहले के एक शो में एक खूबसूरत डांस सीक्वेंस के लिए राधा का रोल भी निभाया है। इस त्यौहार को मनाने और मिठाइयां बनाने के अलावा, जन्माष्टमी की मेरी खास यादों में एक स्पेशल एपिसोड के लिए राधा का रोल निभाना भी शामिल है। मैं इस मौके पर हर साल अपने को-स्टार कृष्णा कौल को भी जन्मदिन की शुभकामनाएं देती हूं। मैं एक बार फिर उसे बधाई दूंगी और उसकी टांग खींचूंगी।"
ज़ी टीवी के कुर्बान हुआ में नील का रोल निभा रहे करण जोतवानी ने कहा मैं जन्माष्टमी को बड़ा पवित्र त्यौहार मानता हूं। जन्माष्टमी से जुड़ी मेरी बहुत-सी यादें हैं। इस परिवार से जुड़ी सबसे खास याद तब की है जब मैं छोटा था और मैं भगवान कृष्ण की तरह पोशाक पहनता था। मुझे याद है एक बार मटकी फोड़ने के लिए पिरामिड पर चढ़ते हुए मैं बुरी तरह से गिर गया था। लेकिन यह सब कुछ मस्ती और उमंग भरा था। मैं हर साल मटकी फोड़ प्रतियोगिता में भाग लेता था और मैं ऊपर तक चढ़ने में कामयाब भी रहता था। लेकिन जैसे-जैसे मैं बड़ा और भारी होता गया, मेरी टीम मुझे नहीं उठा पाती थी। आजकल मैं पिरामिड में नीचे खड़ा रहता हूं, लेकिन मैं फिर भी पूरी मस्ती और उमंग के साथ यह त्यौहार मनाता हूं। इन दिनों हमारे धार्मिक आयोजन और रीति रिवाज भी बदल रहे हैं और इसमें लिंग समानता का भी ध्यान रखा जा रहा है। अब मटकी फोड़ परंपरा में लड़कियां भी भाग ले रही हैं और मुझे कहना पड़ेगा कि वो लड़कों को कड़ी टक्कर दे रही हैं। मटकी फोड़ प्रतियोगिता के बाद हम सभी फरसाण और मिठाइयों का मजा लेते हैं, जो खासतौर पर जन्माष्टमी के लिए बनाया जाता है। फिर जन्माष्टमी का लंच होता है। मैं हर साल इस त्यौहार को लेकर पूरे जोश में रहता हूं।"
ज़ी टीवी के गुड्डन तुमसे ना हो पाएगा में गुड्डन का रोल निभा रहीं कनिका मान ने कहा, "बचपन में हमारे लिए जन्माष्टमी एक बड़ा त्यौहार होता था और इस दिन घर पर पानीपत में शहर के सभी मंदिरों को दीयों से सजाया जाता था। हम भी इन मंदिरों की सजावट देखने और भगवान का आशीर्वाद लेने वहां जाते थे। इस मौके पर एक मेला भी लगता था और मैं और मेरे भाई-बहन वहां से खिलौने खरीदने के लिए हमेशा उत्साहित रहते थे। हम इसे अपने कलेक्शन में शामिल कर लेते थे और अगली जन्माष्टमी से पहले हम तय कर लेते थे कि अगली बार हम कौन सा खिलौना खरीदेंगे। कभी-कभी तो हमें पड़ोस के मंदिरों में जाने के लिए राधा की पोशाक पहन लेती थी। इस बार लॉकडाउन की सावधानियों के चलते हम लोग इस तरह का त्यौहार नहीं मना पाएंगे, लेकिन हमें सेट पर आरती करने का इंतजार रहेगा, जहां हम कुछ स्वादिष्ट मिठाइयों का स्वाद भी चखेंगे।
ज़ी टीवी के गुड्डन तुमसे ना हो पाएगा में अक्षत का रोल निभा रहे निशांत सिंह मलकानी ने कहा जन्माष्टमी हमेशा मुझे उस वक्त की याद दिला देती है जब स्कूल के दिनों में मैं कृष्णा की तरह ड्रेस पहनता था। चूंकि यह त्यौहार मॉनसून सीजन में आता है तो हमारे नाटकों में अक्सर यही दिखाया जाता था कि कृष्ण बारिश से प्रकृति और छोटे घरों की रक्षा करते हैं। इस त्यौहार से जुड़ी मेरी यही सबसे खूबसूरत याद है। इसके अलावा हमारा परिवार इस दिन सभी कृष्ण मंदिरों की सजावट देखने जाता है। हालांकि इस बार सेलिब्रेशन थोड़ी कम रहेगी और हमारा ज्यादातर वक्त सेट पर ही बीतेगा। गुड्डन तुमसे ना हो पाएगा की कहानी में एक बड़ा रोमांचक मोड़ आ रहा है जिसमें गुड्डन और उसके बच्चे को दिखाया जाएगा। तो हम इस सीक्वेंस की शूटिंग करते हुए थोड़ा बहुत त्यौहार का मजा भी लेंगे।